पन्ना रत्न कब और कैसे धारण करें — पन्ना रत्न के प्रभाव तथा धारण विधि।

पन्ना रत्न कब और कैसे धारण करें — पन्ना रत्न के प्रभाव तथा धारण विधि।

पन्ना रत्न कब और कैसे धारण करें — पन्ना रत्न के प्रभाव तथा धारण विधि।   जिन व्यक्तियों की कुंडली में बुद्ध गृह कमजोर होता है उन्हें कई प्रक

नवरात्र द्वितेया मां ब्रह्मचारिणी कौन थी, जानिए यहां…
नवरात्र के व्रत करने से होते है ये आश्चर्यजनक फायदे..देखिए यहां।
Ganesh Chaturthi, a day when Bappa do a Visit

पन्ना रत्न कब और कैसे धारण करें — पन्ना रत्न के प्रभाव तथा धारण विधि।

 

जिन व्यक्तियों की कुंडली में बुद्ध गृह कमजोर होता है उन्हें कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है |

जैसे :- 

धन का अभाव ,कार्य में बिलम्ब ,बच्चे को बोलने में परेशानी ,बुद्धि का विकाश नहीं हो पाता ,परिवर्तन में बाधा ,वाणी ,विद्या ,सफलता ,इत्यादि में बाधा का कारन बनता है ! ,साफ़ न बोलना ,मंद बुद्धि होना ,कार्य में बार बार अड़चन आना, बुद्धि,सस्मरणशक्ति ,विद्या ,धन , जादू टोने, रक्त विकार,पथरी ,बहुमूत्र ,नेत्र रोग ,दमा,गुर्दे के विकार,पाण्डु,मानसिक विकार इत्यादि |

पन्ना धारण करने के लाभ

पन्ना धारण करने से दिमाग की कार्य क्षमता तीव्र हो जाती है धन आगमन होता है ,नए कामों में सफलता ,रुके काम बने ,बच्चे को धारण कराने से बुद्धि में विकाश होता है !जिन बच्चों का पढाई में मन नहीं लगता या बच्चा जिद्दी हो ,या जल्दी भूलने की समस्या हो ,तो पन्ना धारण करना लाभकारी रहेगा !तुतलाना ,साफ़ न बोलना ,मंद बुद्धि होना ,कार्य में बार बार अड़चन आना ,बुद्धि तीव्र ,सस्मरणशक्ति ,विद्या ,बुद्धि ,धन ,व्यापार में लाभप्रद होता है !यह रत्न जादू टोने, रक्त विकार,पथरी ,बहुमूत्र ,नेत्र रोग ,दमा,गुर्दे के विकार,पाण्डु,मानसिक विकार जैसे बिमारियों के लिए भी लाभकारी होता है ! धन आगमन होता है ,नए कामों में सफलता ,रुके काम बने ,बच्चे को धारण कराने से बुद्धि में विकाश होता है !जिन बच्चों का पढाई में मन नहीं लगता या बच्चा जिद्दी हो ,या जल्दी भूलने की समस्या हो ,तो पन्ना धारण करना लाभकारी रहेगा !

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0